लिंग की मालिश का सही और गलत तरीका – Complete Guide to massage your organ

लिंग की मालिश का सही और गलत तरीका – Complete Guide to massage your organ

Brand
Used in following diseases –
Top benefits – 

[toc]

लिंग में कई गुना अधिक कठोरता और लिंग की लम्बाई मोटाई बढ़ाने के लिए हमारा बनाया हुआ खास herbal oil इस्तेमाल करें 

लिंग की मालिश लिंग लम्बा और मोटा कर सकती है इसमें कोई शक नहीं लेकिन इसके लिए ज़रूरी है सही तरीके से और सही समय तक मालिश करना. मेरे पास बहुत सारे emails और sms आये कि लिंग की मालिश केसे और कौन से तेल से करनी चाहिए. सबसे पहले तो मै आपको बता दूँ कि कुछ दिनों तक लिंग की मालिश करके अगर आपको कोई result न मिले तो हतोत्साहित होकर मालिश बिलकुल भी न रोकें और उसको निरंतर जारी रखें. इस article में हम लिंग की मालिश केसे करनी है, कौन से तेल से करनी है, कितनी देर तक करनी आदि पर बात करेंगे.

क्यों ज़रूरी है लिंग की मालिश

Why penis massage is essential 

 

लिंग की त्वचा में धमनियों और शिराओं (arteries और veins) का जाल फेला होता है और ये बहोत बारीक बारीक नसें लिंग के अन्दर तक रक्त का प्रवाह करती हैं. जब कोई निरंतर हस्त्मेथुन करता है या फिर निरंतर सम्भोग करता है तो लिंग को काम तो बहुत ज्यादा करना पड़ता है लेकिन उसको पर्याप्त मात्रा में पोषण नहीं मिल पाता और नतीजा ये होता है कि लिंग की नसें कमज़ोर पड़ने लगती हैं. नसों के कमज़ोर होने के कारण लिंग में तनाव की कमी की समस्या शुरू हो जाती है और अगर सही समय पर इसका उपचार न किया जाये तो पुरुष पूरी तरह नपुंसक हो सकता है. लिंग की मालिश करने से इसमें ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और लिंग की लम्बाई और मोटाई में भी वृद्धि होती है.

लिंग की मालिश के फायदे

Benefits of penis massage

  • लिंग की सही तेल और सही तरीके से मालिश करने पर लिंग की मोटाई या girth बढती है और देखा जाये तो लिंग की मोटाई ही स्त्री (woman) कोऔर पुरुष (man) दोनों को ही सन्तुष करने के लिए ज़रूरी होती है. मालिश करने से लिंग में रक्त (blood) ज्यादा भरता है और इसकी मोटाई और थोड़ी बहोत लम्बाई में भी वृद्धि होती है.
  • लिंग की मालिश पुरुष को उम्र के साथ साथ होने वाली नपुंसकता (impotence or erectile dysfunction) से बचाती है.
  • लिंग की मालिश पुरुष की कामेच्छा (libido) को बढाती है और उसको sex करने में अधिक आनंद मिलता है.
  • शीघ्रपतन (premature ejaculation) में लाभदायक

लिंग की मालिश के लिए कौन से तेल इस्तेमाल करना चाहिए

Which oil you should choose to massage

वेसे तो कई सारे लिंग तिला बाज़ार में उपलब्ध हैं लेकिन मै आपको सलाह दूंगा कि आप रेक्स कंपनी का तिला ए आज़म इस्तेमाल करें.  या फिर हमारा बनाया हुआ तिला Gocurable Erection Oil इस्तेमाल करें क्यूंकि हम शादीशुदा और गैरशादीशुदा लोगों को उनकी ज़रूरत के हिसाब से तिला बनाकर देते हैं.

आप चाहें तो जैतून के तेल (olive oil) या सरसों के तेल (mustard oil) से भी लिंग की मालिश कर सकते हैं. लेकिन ध्यान रहे कोई भी तेल शुद्ध होना चाहिए और उसमे कोई गन्दगी या हानिकारक chemical नहीं हो.

मालिश से पहले

Prerequisites 

  • दिन हो या रात मालिश से पहले ये सुनिश्चित कर लें कि आपके पास कम से कम एक घंटा फ्री होना चाहिए ताकि आप तेल लगाकर मालिश करके नहा भी सकें.
  • मालिश से पहले लिंग को और अपने दोनों हाथों को साबुन से अच्छी तरह धो लें. आपके पास एक छोटा बिलकुल साफ़ धुला हुआ तौलिया होना चाहिए और एक बर्तन में गुनगुना पानी. ध्यान रहे की पानी का तापमान इतना हो जो लिंग को जलन महसूस न हो.
  • अब आप तौलिये को पानी में भिगोयें और निचोड़कर लिंग पर लपेट लें. लगभग दो तीन बार 5 मिनट तक ऐसा ही करें. ऐसा करने से लिंग में रक्त संचरण बढ़ेगा और यह मालिश के लिए तैयार हो जायेगा….

अब मालिश कैसे करनी है चलिए जानते हैं

How to massage penis step by step

  • अगर आप कोई आयुर्वेदिक तिला इस्तेमाल कर रहे हैं तो हर तिला से मालिश का तरीका अलग अलग होता है. बेहतर है कि आपको तिला को ज़ेतून के तेल में मिला लेना है और फिर मालिश करनी है.
  • दोनों हाटों पर थोडा सा तेल लें और अच्छी तरह लिंग को तेल से गीला कर लें.
  • उसके बाद आपको अपने हाथ के अंगूठे और अंगूठे के बराबर वाली ऊँगली को मिलाकर अंग्रेजी के O की शेप बनानी है और लिंग को उसके पिछले भाग (पिछला भाग यानि वर्षण/testis से लगा हुआ भाग) से पकड़ लेना है. पकड़ना ऐसे है कि बिलकुल भी लिंग पर जोर न पड़े. अब इस O की शेप को पीछे से आगे की तरफ लाना है और लिंग की टोपी तक लाकर छोड़ देना है. दोनों हाथों से ऐसे ही धीरे धीरे massage करनी है. लगभग 150 से 200 बार ऐसे ही पीछे से आगे की तरफ मालिश करनी है. जैसे ही पेनिस थोडा बड़ा हो जाये यानि की उसमे तनाव आ जाये तो मालिश करनी रोक देनी चाहिए और 5 मिनट रुकने के बाद आपको दोनों हाथों पर अच्छी तरह तेल लेना है और लिंग को दोनों हथेलियों के बिच में रखकर ऐसे मालिश करनी है जैसे आप किसी चीज़ को roll कर रहे हों. ऐसा आपको 2 या 3 मिनट तक करना है.

  • इसके बाद आपको नहा लेना चाहिए. अगर नहा नही सकते तो लिंग और हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोकर तौलिये से पोंछ लेना चाहिए.

भूलकर भी ऐसे मत करें लिंग की मालिश

Precautions during massage

  • अगर आप मालिश करते समय glance penis या लिंग की टोपी की भी मालिश करने लग जाते हैं तो इससे आप उत्तेजित हो सकते हैं और मालिश के साथ साथ आपको हस्त्मेथुन की आदत भी हो सकती है. ऐसा करने से आपको फायदे के बजाये नुकसान होना शुरू हो जाएगा
  • मालिश करते समय लिंग को जोर से मत दबाएँ या जोर से मत खींचे. ऐसा करना लिंग की muscles के लिए अच्छा नहीं है.

कितने समय बाद लाभ मिलना शुरू हो जाता है?

After how many days result of penis massage starts delivering 

आप ये बिलकुल मत सोचिये कि आपको कुछ ही दिनों में लिंग की मोटाई या लम्बाई बढ़ी हुई महसूस होने लगेगी. ये एक लम्बी प्रक्रिया है और लगभग एक साल तक निरंतर लिंग की मालिश करने पर ही परिणाम की आशा की जा सकती है.

मालिश करने से अगर ऐसा प्रभाव दिखाई दे.

Stop massage if something happens like this

कभी कभी तेल की मालिश करने से लिंग पर दाने निकल सकते हैं. अगर ऐसा होता है तो जब तक दाने ठीक न हों मालिश रोक देनी चाहिए. अगर फिर से दाने होते हैं तो आपको जो तेल आप मालिश के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं उसको बदलकर देखना चाहिए. क्यूंकि व्यक्ति विशेष को तेल विशेष से एलर्जी हो सकती है. इस परिस्थिति में तेल को बदलने पर समस्या का समाधान हो जाता है.

अगर आप के मन में इस लेख से सम्बंधित कोई सवाल है तो ज़रूर कमेंट करें और हमे बताएं.

लिंग में कई गुना अधिक कठोरता और लिंग की लम्बाई मोटाई बढ़ाने के लिए हमारा बनाया हुआ खास herbal oil इस्तेमाल करें 

 

दवा को इस्तेमाल करने का तरीका, खुराक और समय, Dosage, How to use


लिंग … से सम्बंधित कुछ सवाल जवाब, Questions related to Medicine



सवाल पूछें – Ask Question

Contact Us
First
Last
[toc]

Other related useful content on our website

Product Tags
नपुंसकता, लिंग स्तंभन दोष के लिए 4 असरदार आयुर्वेदिक तेल

नपुंसकता, लिंग स्तंभन दोष के लिए 4 असरदार आयुर्वेदिक तेल

Brand
Used in following diseases –
Top benefits – 

[toc]

लिंग में कई गुना अधिक कठोरता और लिंग की लम्बाई मोटाई बढ़ाने के लिए हमारा बनाया हुआ खास herbal oil इस्तेमाल करें 

GoCurable Special Erection Oil

GoCurable.com की अनुभवी और कुशल आयुर्वेदिक डोक्टेर्स की टीम ने आयुर्वेद की अमूल्य औषधियों का इस्तेमाल करके और एसेंशियल ऑयल्स के मिश्रण से एक शक्तिशाली penis topical tonic तैयार किया है जो विभिन्न मरीजों पर आज़माने के बाद काफी प्रभावशाली सिद्ध हुआ है.

GoCurable Special Erection Oil उन लोगों के लिए वरदान की तरह होता है जो नपुंसकता की मार झेल रहे होते हैं या लिंग में तनाव की कमी के कारण उनके लिंग की लम्बाई और मोटाई घट गयी है.

GoCurable  Special Erection Oil पूरी तरह प्राक्रतिक जड़ी बूटियों के एसेंशियल ऑयल्स द्वारा निर्मित है और इसमें हमने किसी भी रसायन का प्रयोग नहीं किया है इसलिए ये न सिर्फ लिंग को पोषण प्रदान करता है बल्कि पूरी तरह सुरक्षित भी है.

GoCurable Special Erection Oil के मुख्य घटक या ingredients

  • Black cumin seeds
  • Clove
  • Saffron
  • Rose
  • Almond
  • Wallnut
  • Akarka processed
  • Sesame
  • Ginger
  • Malkangni
  • Olive oil

GoCurable Special Erection Oil हमारी कंसल्टेशन सेवा के बाद ही उपलब्ध हो पाता है. कंसल्टेशन क्यों ज़रूरी है

  • कोई भी दवा चाहे वो अंग्रेजी हो या देसी बिना चिकित्सक की सलाह के लेना गलत है. हो सकता है आप जो दावा ले रहे हैं वो आपके लिए सही न हो और आपको दूसरी दवा लेनी चाहिए
  • हमारा लिंग oil बाज़ार में बिक रहे ब्रांड्स की तरह नही है बल्कि हम अलग अलग मरीजों को उनकी ज़रूरत के हिसाब से अलग अलग तरह का oil तय्यार करके देते हैं. ताकि रोगी को सम्पूर्ण लाभ मिल सके.
  • अगर आप स्तंभन की समस्या (लिंग शिथिलता) से त्रस्त हैं तो सिर्फ तेल ही काफी नहीं है इसके लिए आपको सही व्यायाम, खानपान और खायी जाने वाली आयुर्वेदिक औषधियों की ज़रूरत भी होती है जो रोगी की उम्र, और उसकी मेडिकल रिपोर्ट्स के अधर पर दी जाती हैं.

जैसे हमारे बालों को पोषण के लिए एक अच्छे herbal oil की ज़रूरत होती है और हम इसके लिए आयुर्वेदिक, यूनानी या फिर किसी दुसरे तरीके से बने प्राक्रतिक तेल का इस्तेमाल करते हैं ठीक वेसे ही पुरुष गुप्तांग या लिंग (Penis) को भी स्वस्थ बने रहने के लिए समय समय पर पोषण की ज़रूरत होती है. लिंग में सम्पूर्ण उत्तेजना के लिए  शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना तो आवश्यक है ही लेकिन इसको बाहरी पोषण मिलना भी ज़रूरी है.

सम्भोग की अधिकता (excess of having sex), शारीरिक या मानसिक बिमारियों जैसे ह्रदये सम्बंधित परेशानियों, मधुमेह, अवसाद (depression), घबराहट आदि की वजेह से लिंग में जाने वाले रक्त में कमी आ सकती है और लिंग पूरी तरह उत्तेजित नहीं हो सकता. या अगर उत्तेजना आती भी है तो कुछ ही समय बाद लिंग शिथिल हो जाता है और पुरुष और स्त्री सम्भोग का पूरा आनंद नहीं ले पाते हैं. ये स्थिति काफी दुखद और वैवाहिक संबंधो को नकारत्मक रूप से प्रभावित करने वाली होती है. ऐसे समय में पति पत्नी दोनों को संयम से काम लेना चाहिए और बिना घबराए हुए एक अच्छे आयुर्वेदिक डॉक्टर से उपचार लेना चाहिए. 

लिंग में तनाव बढाने के लिए herbal oil सुप्प्लिमेंट्स काफी मददगार साबित हुए हैं. जड़ी बूटियों से तैयार किये जाने वाले इन तेलों की लिंग पर ठीक से और सावधानी मालिश करने से लिंग की मास्पेशियाँ (muscles) मजबूत होती हैं और लिंग की धमनियों और शिराओं में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है. इन तेलों के निरंतर और सही ढंग से इस्तेमाल करने से लिंग उत्तेजित होने पर पहले से ज्यादा कठोर, लम्बा और मोटा महसूस होता है और इसमें तनाव भी ज्यादा समय के लिए बना रहता है.

इस article में हमने उन सभी तेलों पर प्रकाश डाला है जो लिंग के ढीलेपन या erectile dysfunction के उपचार में काफी प्रभावी हैं.

नपुंसकता या erectile dysfunction के आयुर्वेदिक उपचार के बारे में यहाँ पढ़ें

हिमकोलिन जेल  (Himcolin Gel)

हिमकोलिन जेल एक अत्यधिक लोकप्रिय और प्रभावी औषधि है जो हिमालया हर्बल्स द्वारा बनायीं जा रही है. ये तेल gel के रूप में होता है जो पूरी तरह जड़ी बूटियों से तैयार किया जाता है और इसमें किसी तरह का कोई रसायन नहीं होता है तो ये पूरी तरह सुरक्षित है. हिम्कोलिन gel कमोतेज्जना बढाता है और लिंग में तनाव (इरेक्शन) को बढाता है. हिम्कोलिन gel नपुंसकता, लिंग में तनाव की कमी को दूर करने में काफी सहायक है.

हिमकोलिन जेल के मुख्य घटक या ingredients

  • लताकस्तूरी
  • ज्योतिष्मती
  • निर्गुण्डी
  • बादाम
  • कार्पास
  • तेजपत्र
  • मुकुलक
  • जातिपत्री
  • जायफल
  • लवंग

हिमकोलिन जैल के मुख्य फायदे (Benefits of Himcolin Gel)

  • नपुंसकता के उपचार में उपयोगी
  • लिंग में तनाव की गुणवत्ता को बढाता है
  • लम्बे समय तक तनाव को बनाये रखता है
  • शीघ्रपतन में उपयोगी

हिमकोलिन जैल को लगाने का तरीका (How to use Himcolin Gel)

  • सबसे पहले लिंग को किसी सुरक्षित साबुन से धो लें और तौलिये से साफ कर लें
  • जब लिंग से पानी की नमी पूरी तरह उड़ जाये
  • इसके बाद आपको त्वचा का इस दवा के प्रति संवेदनशीलता को जांचना है. जिससे ये पता चल सके कि हिमकोलिन जेल आपकी लिंग की त्वचा (स्किन) के लिए सुरक्षित है भी या नहीं. असल में होता क्या है कि लिंग की स्किन बहोत ज्यादा नाज़ुक (sensitive) होती है तो कोई भी तेल या क्रीम किसी भी व्यक्ति के लिंग पर जलन या खुजली कर सकती है. तो बेहतर है कि पहले ही इस बात को परख लिया जाये.
  • हिमकोलिन जेल को नहीं के बराबर अपनी एक ऊँगली के पोरवे  (fingertip) पर लें और फिर उसको लिंग के टोपी से पीछे वाले भाग पर (shaft) पर थोड़ी सी जगह पर हल्का सा लगाकर छोड़ दें. अगर आपके लिंग की स्किन को हिम्कोलिन जेल suite नहीं करता है तो आधा मिनट के अंदर अंदर आपको लिंग पर तेज़ जलन महसूस हो सकती है. इस स्थिति में तुरंत लिंग को साबुन से धोकर इसपर नारियल का तेल लगा लें. और ये मान लें की हिम्कोलिन जेल आपके लिंग के लिए सुरक्षित नहीं है. अगर सिर्फ हलकी जलन महसूस होती है और थोड़ी देर में ये जलन अपने आप ख़त्म हो जाती है तो आप हिमकोलिन जेल का इस्तेमाल कर सकते हैं
  • अब आपको अपनी एक ऊँगली पर हिम्कोलिन जेल ऐसे निकलना है जैसे आप toothpaste ब्रश पर निकलते हैं. इसके बाद इसको थोडा थोडा करके लिंग पर लगाइए और आराम से बिना लिंग पर दबाव डाले इसकी मालिश कीजिये.
  • ध्यान रहे कि हिमकोलिन जेल, तेल जैसा चिकना नहीं होता और इसको धीरे धीरे ही लिंग पर मालिश करें अन्यथा घर्षण (friction) की वजेह से स्किन को नुकसान हो सकता है.
  • लगभग १० मिनट तक मालिश करने के बाद आप चाहें तो आधे घंटे बाद धो सकते हैं और चाहें तो कुछ घंटो बाद भी धो सकते हैं.
  • हिम्कोलिन जेल का इस्तेमाल आपको रोजाना करना है.

अगर आप अविवाहित हैं यानि आपकी शादी नहीं हुई है या आपको हाल फिलहाल में सम्भोग नही करना है तो –

रात सोने से पहले आपको इसका इस्तेमाल करना है

लिंग की टोपी यानि कि glance penis पर इसको नहीं लगाना है. ऐसा करने आपको उत्तेजना हो सकती है और सम्भोग करने की इच्छा बढ़ सकती है.

अगर आप विवाहित हैं या किसी के साथ sexual relationship में हैं तो –

सम्भोग से आधा घंटा पहले हिम्कोलिन जेल से मालिश करें और आप इसको लिंग टोपी पर भी लगा सकते हैं जिससे कमोतेज्जना में वृधी (improves libido) होती है.

हिमकोलिन जेल के नुकसान या sideeffects (Sideffects of Himcolin Gel)

वेसे तो हिमकोलिन जेल पूरी तरह सुरक्षित है लेकिन अगर इसके इस्तेमाल से लिंग पर या आपके पार्टनर की योनी (vagina) में जलन या खुजली जैसे लक्षण (allergic symptoms) दिखाई देते हैं तो इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

Japani Tel

जापानी तेल एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक उत्पाद है जो लगभग सभी मेडिकल स्टोर्स पर उपलब्ध रहता है. जापानी तेल अमूल्य जड़ी बूटियों से बनाया गया एक असरदार तेल है जो नपुंसकता (Erectile Dysfunction), लिंग के ढीलेपन और शीघ्रपतन को दूर करने में मदद करता है. इस तेल की मालिश से लिंग में रक्त प्रवाह बढ़ जाता है जिसके फलस्वरूप लिंग की लम्बाई भी बढ़ी हुई महसूस होती है यानि यह तेल पूर्ण लिंग उत्थान में सहायक है.

जापानी तेल अकरकरा, केसर, लौंग और दूसरी कीमती जड़ी बूटियों से बनाया जाता है और इसकी खास बात ये है की ये दुसरे तेलों की तुलना में बहुत ज्यादा सुरक्षित पाया गया है.

जापानी तेल के मुख्य घटक या ingredients

  • Akarkara (Anacyclus Pyrethrum)
  • Malla rasayan
  • Malkangni (Celastrus paniculatus)
  • Keshar (saffron)
  • Harttal rasayan
  • Jaitoon Oil (olive oil)
  • Laung (clove)
  • Tilli oil

जापानी तेल के फायदे

  • लिंग स्तंभन दोष, लिंग शिथिलता, ढीलापन दूर करने में मदद करता है
  • शीघ्रपतन समस्या में उपयोगी
  • कमोतेज्जना, libido बढाता है

जापानी तेल को लगाने का तरीका

जापानी तेल को भी हिमकोलिन जेल की तरह ही इस्तेमाल करना है लेकिन इसकी 7-8 बुँदे ही एक बार में इस्तेमाल की जाती हैं.

सावधानियां और इसके sideeffects

सभी लिंग पर लगाये जाने वाले तेलों या लेप के इस्तेमाल में सावधानियां और sideeffects वही हैं जो ऊपर हिमकोलिन जेल के बारे में बताये गए हैं.

सांडा तेल

यहाँ पर आपको थोडा साफ़ बताना पड़ेगा की ये सिर्फ ब्रांड का नाम ही सांडा है लेकिन इस तेल में सांडा यानि कि sand lizard का तेल बिकुल भी नहीं होता है और ये पूरी तरह से एक आयुर्वेदिक तेल है जो विभिन्न आयुर्वेदिक दवाओं से तैयार किया जाता है.

सांडा तेल फ़ॉर्मूला (sandha oil ingredients)

  • Black cumin seeds oil
  • Withaniasominifera /Ashawagandha
  • Sura sur
  • Dhatura

सांडा तेल के फायदे

ये तेल भी दुसरे तेलों की तरह मुख्यतः लिंग स्तंभन दोष या erectile dysfunction के उपचार में इस्तेमाल किया जाता है. साथ में ये शीघ्रपतन या premature ejaculation की समस्या को भी दूर करने में सहायक हो सकता है.

सांडा तेल को लगाने का तरीका

सांडा तेल को भी हिमकोलिन जेल की तरह ही इस्तेमाल करना है लेकिन इसकी 7-8 बुँदे ही एक बार में इस्तेमाल की जाती हैं.

सांडा तेल – सावधानियां और इसके sideeffects

सभी लिंग पर लगाये जाने वाले तेलों या लेप के इस्तेमाल में सावधानियां और sideeffects वही हैं जो ऊपर हिमकोलिन जेल के बारे में बताये गए हैं.

GoCurable Special Erection Oil

GoCurable.com की अनुभवी और कुशल आयुर्वेदिक डोक्टेर्स की टीम ने आयुर्वेद की अमूल्य औषधियों का इस्तेमाल करके और एसेंशियल ऑयल्स के मिश्रण से एक शक्तिशाली penis topical tonic तैयार किया है जो विभिन्न मरीजों पर आज़माने के बाद काफी प्रभावशाली सिद्ध हुआ है.

GoCurable Special Erection Oil उन लोगों के लिए वरदान की तरह होता है जो नपुंसकता की मार झेल रहे होते हैं या लिंग में तनाव की कमी के कारण उनके लिंग की लम्बाई और मोटाई घट गयी है.

GoCurable  Special Erection Oil पूरी तरह प्राक्रतिक जड़ी बूटियों के एसेंशियल ऑयल्स द्वारा निर्मित है और इसमें हमने किसी भी रसायन का प्रयोग नहीं किया है इसलिए ये न सिर्फ लिंग को पोषण प्रदान करता है बल्कि पूरी तरह सुरक्षित भी है.

GoCurable Special Erection Oil के मुख्य घटक या ingredients

  • Black cumin seeds
  • Clove
  • Saffron
  • Rose
  • Almond
  • Wallnut
  • Akarka processed
  • Sesame
  • Ginger
  • Malkangni
  • Olive oil

GoCurable Special Erection Oil हमारी कंसल्टेशन सेवा के बाद ही उपलब्ध हो पाता है. कंसल्टेशन क्यों ज़रूरी है

  • कोई भी दवा चाहे वो अंग्रेजी हो या देसी बिना चिकित्सक की सलाह के लेना गलत है. हो सकता है आप जो दावा ले रहे हैं वो आपके लिए सही न हो और आपको दूसरी दवा लेनी चाहिए
  • हमारा लिंग oil बाज़ार में बिक रहे ब्रांड्स की तरह नही है बल्कि हम अलग अलग मरीजों को उनकी ज़रूरत के हिसाब से अलग अलग तरह का oil तय्यार करके देते हैं. ताकि रोगी को सम्पूर्ण लाभ मिल सके.
  • अगर आप स्तंभन की समस्या (लिंग शिथिलता) से त्रस्त हैं तो सिर्फ तेल ही काफी नहीं है इसके लिए आपको सही व्यायाम, खानपान और खायी जाने वाली आयुर्वेदिक औषधियों की ज़रूरत भी होती है जो रोगी की उम्र, और उसकी मेडिकल रिपोर्ट्स के अधर पर दी जाती हैं.

सवाल जवाब

Q. क्या ऊपर दिए गए किसी तेल से लिंग की लम्बाई को बढाया जा सकता है?

A. इन तेलों से लिंग में तनाव की वृद्धि होती है जिससे एक इंच तक लम्बाई बढ़ सकती है

Q. क्या तेल का इस्तेमाल पूरी तरह लिंग की ढीलेपन (erectile dysfunction) को दूर कर सकता है?

A. इन तेलों के इस्तेमाल से नपुंसकता के उपचार में काफी सहायता मिल सकती है और काफी मरीजों में ये पूरी तरह से नपुंसकता को दूर कर सकते हैं. लेकिन चूँकि नपुंसकता के कारण अलग अलग हो सकते हैं तो बहोत सरे मरीजों को इन तेलों के इस्तेमाल के साथ साथ खाने वाली दवा की भी ज़रूरत होती है

Q. क्या एक स्वस्थ व्यक्ति जिसको लिंग के ढीलेपन की समस्या न हो वो भी इन तेलों का इस्तेमाल कर सकता है?

A. ये बहोत अछि बात है कि अगर आप स्वस्थ हैं तो हफ्ते में एक या दो बार लिंग की मालिश करें इससे लिंग में तनाव को और ज्यादा बढाया जा सकता है और बेहतर sex-drive का आनंद लिया जा सकता है.

 

 

दवा को इस्तेमाल करने का तरीका, खुराक और समय, Dosage, How to use


नपुंस… से सम्बंधित कुछ सवाल जवाब, Questions related to Medicine



सवाल पूछें – Ask Question

Contact Us
First
Last
[toc]

Other related useful content on our website

Product Tags

नामर्दी, नपुंसकता का आयुर्वेदिक उपचार / Ayurvedic And Herbal Treatment For Impotency And Erectile Dysfunction

Brand
Used in following diseases –
Top benefits – 

[toc]

गो क्यूरेबल पर आपका फिर से स्वागत है.\

आज हम इम्पोटेंसी (impotency) यानि नामर्दी के आयुर्वेदिक इलाज पर बात करेंगे.

बात शुरू करने से पहले मैं आपको एक बात ज़रूर बताना चाहूँगा और वह बात यह है कि हम जो यहाँ आयुर्वेदिक इलाज आपको बताएँगे वे पूरी तरह से शास्त्र-सम्मत हैं और सभी प्रकार के योग, आसव, अरिष्ट एवं औषधियाँ विभिन्न आयुर्वेदिक ग्रंथों से बिना किसी परिवर्तन के लिए गए हैं, किसी भी प्रकार के ग्रन्थ सन्दर्भ के लिए आप हमसे पूछ सकते हैं.

तो आइये जाने क्या है नामर्दी, क्यों होती है नामर्दी और क्या है नामर्दी का इलाज?

क्या है नामर्दी (What is impotency and erectile dysfunction)?

मैथुन क्षमता (ability to have sex) की असमर्थता या लिंग की ऐसी शिथिलता (flaccidity), लिंग के ढीलेपन, लिंग में सख्ती की कमी कि वह स्त्री योनि में प्रविष्ट न हो पाए, नामर्दी है. सादी ज़बान में कहा जाये तो स्त्री के पास होने पर भी लिंग का खड़ा न हो पाना (lack of a sustainable erection) नामर्दी है. नामर्दी कई वजहों से पैदा हो सकती है.

नामर्दी के कारण (Causes Of Erectile Dysfunction):

नामर्दी को इंग्लिश में इम्पोटैंसी कहते हैं. मॉडर्न मेडिकल साइंस (modern medical science) में इसके लिए अलग से मेडिकल टर्म (medical term) भी है: इरेक्टाइल डिसफंक्शन (erectile dysfunction). इम्पोटेंसी या इरेक्टाइल डिसफंक्शन की कई वजहें हो सकती हैं, उनमें दो ख़ास हैं:

  • मानसिक (Psychological)
  • शारीरिक (Physical)

मानसिक या psycological वजह से भी कई बार लिंग खड़ा (erection) नहीं हो पाता. कई बार व्यक्ति जब मानसिक रूप से तनावग्रस्त होता है तो चाहते हुए भी लिंग में उत्थान नहीं हो पाता है. अधिक थकान भी कई बार लिंग को खड़ा नहीं होने देती है.
शारीरिक कारणों को भी दो वजहों में बाँटा जा सकता है:

प्राइमरी (primary) और सेकेंडरी (secondary)

सेकेंडरी कारण वे होते हैं जबकि प्रॉब्लम सेक्स सम्बन्धी न होकर कुछ और होती है पर वह समस्या मरदाना ताक़त को भी प्रभावित करती है जैसे डायबिटीज (diabetes). डायबिटीज यानि शुगर की बीमारी जोकि आजकल काफी आम हो गयी है में भी नामर्दी पैदा हो जाती है. इसी तरह मोटापा (obesity) भी नामर्दी पैदा करता है. कुछ दवाइयाँ भी temporary या permanent नामर्दी पैदा कर देती हैं. 

नामर्दी के प्राइमरी कारण वे होते हैं जबकि असली समस्या सेक्स सम्बन्धी या सेक्स अंगों में ही होती है

तो क्या हैं नामर्दी के ये प्राइमरी कारण?

नामर्दी के प्राइमरी या मुख्य कारण:

नामर्दी यानि इरेक्टाइल डिसफंक्शन प्राइमरी रूप से तीन वजह से होती हैं:

  • अधिक सेक्स (too much sex)
  • अधिक आयु (age)

अन्य कारण जैसे रक्त परिसंचरण तंत्र (cardiovascular system) का सही काम न करना
मॉडर्न मेडिकल साइंस के मुताबिक़ लिंग के खड़े होने में नाइट्रिक ऑक्साइड (NO) नामक केमिकल की बड़ी भूमिका होती है. मर्द जब मानसिक रूप से उत्तेजित होता है तो नाइट्रिक ऑक्साइड लिंग के अंदर की खून की नालियों को फैला देता है जिसकी वजह से खून नालियों के अंदर से निकलकर लिंग के स्पंज जैसे स्ट्रक्चर में भर जाता है जिससे लिंग लम्बाई और मोटाई में बढ़ जाता है और फलस्वरूप खड़ा हो जाता है.
जब उत्तेजना ख़त्म हो जाती है तो खून लिंग के अंदर से वापस खून की नालियों में चला जाता है, जिससे लिंग का उत्थान समाप्त हो जाता है.
अधिक आयु की वजह से, अधिक सेक्स करने से या किसी और वजह से जब नाइट्रिक ऑक्साइड और खून निकलने-भरने का ये तालमेल गड़बड़ा जाता है तो लिंग पूरी तरह से या आंशिक रूप से खड़ा नहीं हो पाता है, यही नामर्दी है.

नामर्दी का देसी  उपचार (Treatment Of Erectile Dysfunction):

तनाव की वजह से होने वाली नामर्दी अक्सर परमानेंट नहीं होती और तनाव दूर हो जाने पर नामर्दी भी दूर हो जाती है. इसी तरह सेकेंडरी नामर्दी भी मूल कारण जैसे डायबिटीज, मोटापा आदि के कंट्रोल कर लेने पर ख़त्म हो जाती है.
नामर्दी का मॉडर्न एलोपैथिक साइंस में  कोई परमानेंट इलाज नहीं है, दूसरे इसके बहुत सारे साइड इफेक्ट्स हैं, जिनमे हार्ट अटैक (heart attack) भी शामिल हैं.

तो क्यों न हम नामर्दी का ऐसा इलाज ढूंढे जो स्थायी भी हो और जिसका कोई साइड इफेक्ट भी न हो.
क्या ऐसा मुमकिन है? हाँ है.

नामर्दी को आयुर्वेद में क्लैव्य एवं नपुंसकता कहा गया है और इसके अनेक प्रकार भी बताये गए हैं. जिनमें से कुछ को साध्य और कुछ को असाध्य माना गया है. नामर्दी का सटीक, साइड इफेक्ट्स रहित, शुद्ध शास्त्र-सम्मत आयुर्वेदिक उपचार इस प्रकार है:
ये तीनों सुबह शाम लें:

  • मन्मथाम्र रस- 250 ग्राम
  • शिलाजत्वादि वटी- 250 ग्राम
  • नारसिंह चूर्ण- 250 ग्राम
    …………………………………………….

दोनों टाइम खाने के बाद इन दोनों के 5-5 चम्मच एक गिलास पानी में मिलकर लें:

  • अश्वगंधारिष्ट
  • सारस्वतारिष्ट
    ………………………………………..
  • मूसली पाक 20 ग्राम, दो टाइम खाने के बाद दूध से.
    ………………………………………….
  •  रात को सोते समय हरीतकी चूर्ण 3 ग्राम गुनगुने पानी से लें.

इन बातों का भी रखें ध्यान:

  • अधिक सेक्स से बचें
  •  सेक्स के बारे में सोचते रहने से बचें
  •  सेक्स के दौरान भिन्न-भिन्न मुद्राएं अपनाएँ.
  •  मोटापा बिलकुल न बढ़ने दें
  • पौष्टिक लेकिन सात्विक भोजन करें
  • अनर्गल दवाइयों का सेवन न करें

मरदाना ताकत और वाजीकरण नुस्खों के लिए ये भी देखें.
नोट:
ऊपर दिए गए सभी योग पूरी तरह से आयुर्वेद के पुराने ग्रंथों से बताये गए हैं. ये सभी दवाइयाँ हमारी फार्मेसी पर भी अवेलेबल हैं और आप इन्हें गो क्यूरेबल से ऑनलाइन आर्डर के ज़रिये प्राप्त कर सकते हैं.

दवा को इस्तेमाल करने का तरीका, खुराक और समय, Dosage, How to use


नामर्… से सम्बंधित कुछ सवाल जवाब, Questions related to Medicine



सवाल पूछें – Ask Question

Contact Us
First
Last
[toc]

Other related useful content on our website

Product Tags